चाँद पर कौन कौन गया है? Chand par kon kon gaya hai

चाँद पर कौन कौन गया है: एक समय था जब लोग रात में चाँद को देख कर वहाँ तक पहुंचने की कल्पना करते थे लेकिन दुनिया के वैज्ञानिकों ने इस कल्पना को सच करके दिखाया है आज न जाने कितने वैज्ञानिकों ने चाँद की यात्रा को सफलतापूर्वक किया है, और आज के इस लेख में आपको इसी विषय से खास जानकारी पढ़ने को प्राप्त होंगी.

इस लेख में आप chand par kon kon gaya hai इस खास प्रश्न को विस्तार पूर्वक समझ सकेंगे तो चलिए इस लेख की यह खास जानकारी को पढ़ना शुरू करते है। 

चाँद पर कौन कौन गया है? | Chand par kon kon gaya hai

दुनिया में कई देशो ने चाँद तक पहुंचने के कई प्रयास किये लेकिन सबसे पहली सफलता अमेरिका और सोवियत संघ देश को प्राप्त हुई। अमेरिका के सबसे बड़े स्पेस सेंटर नासा ( NASA ) द्वारा चाँद पर भेजे जाने वाले सबसे पहले व्यक्ति नील आर्मस्ट्रांग और इनकी सफल यात्रा ने दुनिया के विभिन्न वैज्ञानिकों के मन में चाँद तक पहुंचने की लालसा बढ़ा दी थी, तो आइये जानते है कि आखिर अब तक chand par kon kon gaya hai ? 

नील आर्मस्ट्रांग

बचपन में आपने नील आर्मस्ट्रांग के बारे में जरूर पढ़ा होगा, ये वही व्यक्ति है जिन्होंने सबसे पहले चन्द्रमा तक अपनी यात्रा की, इनका जन्म 5 अगस्त 1930 को अमेरिका में हुआ था।

ये नासा स्पेंस एजेंसी में वैज्ञानिक पद पर कार्यरत थे और सन 1969 के दौरान इन्हें अपोलो 11 मिशन के तहत चाँद तक भेजने का फैसला लिया गया।  इन्हे इस मिशन का कमांडर नियुक्त करते भेजा गया था। कई वर्ष नासा में सेवा देने के बाद इन्होने रिटायर होकर विश्वविद्यालयों में अध्यापन का कार्य किया। वर्ष 25 अगस्त 2012 को 82 वर्ष की उम्र में इनका निधन हो गया। 

बज एल्ड्रिन

chand par जाने वाले व्यक्तियों में बज एल्ड्रिन दूसरे नंबर पर है, इन्हें अपोलो 11 मिशन के तहत नील आर्मस्ट्रांग के साथ चाँद पर भेजा गया था। इनका जन्म 20 जनवरी 1930 को अमेरिका के ग्लेन रीज शहर में हुआ, वर्तमान में इनकी उम्र 93 वर्ष है और ये एकलौते ऐसे अंतरिक्ष यात्री है जो अब तक जीवित है। 

पीट कॉनराड 

1969 में अपोलो 12 मिशन में चाँद पर जाने वाले पीट कॉनराड तीसरे व्यक्ति थे, अमेरिका के स्पेस सेंटर इन्होने वैज्ञानिक इंजीनियर पद कई वर्ष कार्य किया और यहाँ से रिटायमेंट होने के बाद इन्होने बिजनेस में अपना हाथ आजमाया जिसमें इनको काफी सफलता प्राप्त हुई, 69 वर्ष की उम्र में एक दुर्घटना की चपेट में आकर इनकी मृत्यु हो गयी थी। 

एलन बीन

एलन बीन को वर्ष 1969 में अपोलो 12 मिशन के तहत चाँद पर भेजा गया। ये chand par pahuchane wale चौथे व्यक्ति थे। इसके अलावा इन्होनें एयरोनॉटिकल इंजीनियर, नौ सेना सलाहकार और परीक्षण पायलट के रूप कार्य किये थे।

वर्ष 1981 में नासा से रिटायरमेन्ट के बाद इन्होनें कई किताबों को लिखा। इनकी मृत्यु सन 2018 में हो गयी।  

एलन शेपर्ड

नासा द्वारा भेजे जाने वाले अपोलो 14 चाँद मिशन में एलन शेफर्ड को पाचवे व्यक्ति के रूप में जाना जाता है। इनका जन्म 18 नवंबर 1923 में संयुक्त राज्य अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थान पर हुआ।

इन्होने वर्ष 1974 में नासा से रिटायमेंट लेकर बैंकिंग और रियल स्टेट का बिजनेस स्टार्ट किया था । 21 जुलाई सन 1988 में इनकी मृत्यु हो गयी थी। 

एडगर मिशेल

चाँद पर एडगर मिशेल को सन 1971 में अपोलो 14 मिशन के तहत भेजा गया थे जिसमें एलन शेफर्ड भी इनके सह अंतरिक्ष यात्री बने थे, इन्हें चन्द्रमा पर जाने वाले छठे व्यक्ति के रूप में जाना जाता है, इनका जन्म 17 सितम्बर 1930 को यूनाइटेड स्टेट के टेक्सॉस स्थान में हुआ।

वर्ष 1972 में नासा से रिटायरमेन्ट लेने के बाद इन्होनें एक एनजीओ में अपनी सेवा देनी प्रारम्भ की । और 4 जुलाई 2016 में इनकी मृत्यु हो गयी थी। 

डेविड स्कॉट

डेविड स्कॉट का जन्म 6 जून 1932 को यूनाइटेड स्टेट के एंटोनियो, टेक्सास में हुआ था, नासा के मिशन अपोलो 15 में इन्हे सन 1971 में chand par भेजा गया इसलिए चाँद पर पहुंचने वाले ये सातवें व्यक्ति बने, डेविड स्कॉट ने तीन बार सफलतापूर्वक अंतरिक्ष यात्राएं की है, और वर्ष 1977 में नासा से रिटायरमेन्ट लेने के बाद इन्होने स्पेस से जुडी कई किताबो को लिखा।  

जेम्स इरविन

चन्द्रमा की धरती पर कदम रखने वाले व्यक्तियों में आठवे नंबर पर जेम्स इरविन का नाम लिया जाता है, नासा की तरफ से इन्हें अपोलो 15 के अंतर्गत चाँद पर भेजा गया। इनका जन्म यूएस के पिट्सबर्ग में हुआ था, इन्होने अपने जीवन में एयर फ़ोर्स पायलट, टेस्टिंग पायलट, अंतरिक्षयात्री के रूप में कार्य किया।

इसके बाद इन्होने सन 1972 में नासा से रिटायमेंट लेने के बाद ईसाई आउटरीच संगठन की स्थापना की। और 61 वर्ष की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था ।      

जॉन यंग 

अप्रैल 1972 में नासा की ओर से चाँद अपोलो 16 मिशन भेजा गया जिसमे जॉन यंग चाँद पर जाने वाले 9 वे व्यक्ति थे, इन्हे इस मिशन का कमांडर बनाकर भेजा गया। इनका पूरा नाम जॉन वॉटसन यंग है इनका जन्म 24 सितम्बर 1930 को हुआ था। इन्होने अपने जीवन में कुल 6 बार अंतरिक्ष यात्राएं करने का रिकॉर्ड बनाया।

करीब 40 वर्ष नासा में कार्य करने के बाद वर्ष 2004 में इन्होने रिटायरमेंट ले लिया।  और 5 जनवरी 2018 में 87 वर्ष की उम्र में इनका निमोनिया बीमारी से निधन हो गया।   

चार्ल्स ड्यूक 

चन्द्रमा की धरती पर कदम रखने वाले चार्ल्स ड्यूक 10 व्यक्ति थे वर्ष 1972 में अपोलो 16 मिशन में जाने वाले ये दूसरे व्यक्ति थे। ये के अंतरिक्षयात्री होने के साथ साथ अमेरिकन एयर फोर्स में भी कार्यरत थे।

इनका जन्म 3 अक्टूबर 1935 को अमेरिका के नार्थ कैरोलीना स्थान पर हुआ। वर्ष 1975 में नासा से रिटायरमेंट होने के बाद इन्होने जेल मंत्रालय में कार्य करना शुरू किया। 

यूजीन सेरनन

साल 1972 में अपोलो 17 मिशन के द्वारा यूजीन ने चाँद पर अपने कदम रखे, इनका नाम उन आखिरी अंतरिक्ष यात्रियों में लिया जाता है जिन्होंने अंतिम बार यह यात्रा की थी। इनका जन्म 7 दिसम्बर 1934 को अमेरिका के शिकागो में हुआ था। 6 जनवरी सन 2017 को 82 वर्ष की उम्र में इनका निधन हो गया था।

हैरिसन स्मिथ

हैरिसन अपोलो 17 मिशन के तहत चाँद पर जाने वाले अंतरिक्ष यात्रियों में शामिल है इनका पूरा नाम हैरिसन हैगन स्मिथ है। वर्ष 1975 में नासा से रिटायमेंट होने के बाद इन्होने यूएस सीनेट में एक साल के लिए रिपब्लिकन के रूप में प्रतिनिधित्व किया।  इसके अलावा इन्होने विश्विद्यालय में अध्यापन का कार्य किया। 

FAQ

चाँद से पृथ्वी की दूरी कितनी हैं?

चाँद से पृथ्वी की दूरी लगभग 384400 किलोमीटर है। 

चाँद पर अब तक कुल कितने लोग जा चुके है? 

चाँद पर अब तक कुल 12 लोग सफलतापूर्वक जा कर वापस आ चुके है। 

चाँद पर पहुंचने वाली पहली महिला कौन है? 

चाँद पर पहुंचने वाली पहली महिला अंतरिक्ष यात्री जेसिका है जिन्होंने 1972 में चाँद पर अपने कदम रखे। 

चाँद पर सबसे अधिक बार कौन सा चुका है?

सबसे अधिक बार चाँद पर जॉन यंग जा चुके है। 

चाँद पर अंतिम बार यात्रा कब की गयी है?

वर्ष 1972 में यूजीन सेरनन द्वारा चाँद की अंतिम यात्रा की है। 

निष्कर्ष   

इस लेख के माध्यम से आपको यह जानकारी बताई गयी कि chand par kon kon gaya hai. जिसके अंतर्गत आपको चाँद पर गए कई अंतरिक्ष यात्रियों के बारे में बताया गया, उम्मीद करते है यह जानकारी आपके लिए काफी उपयोगी साबित हुई होगी.

यदि आप आगे भी इसी प्रकार की जानकारियों को पढ़ने के लिए इच्छुक है तो तो इस वेबसाइट को विजिट कर सकते है। इस लेख को अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Leave a Comment